विशेष अपडेट: प्रधानमंत्री आवास योजना (PMAY) कार्य आदेश सूची 2024

WhatsApp Channel Join Now
Telegram Group Join Now

(PMAY)

प्रधानमंत्री आवास योजना (पीएमएवाई) भारत सरकार की एक प्रमुख पहल है जिसका उद्देश्य शहरी और ग्रामीण गरीबों को किफायती आवास प्रदान करना है। योजना को दो प्रमुख घटकों में विभाजित किया गया है: पीएमएवाई-शहरी (पीएमएवाई-यू) और पीएमएवाई-ग्रामीण (पीएमएवाई-जी)। 2024 के लिए कार्य आदेश सूची में उन परियोजनाओं का विवरण दिया गया है जिन्हें मंजूरी दी गई है और उनके कार्यान्वयन के लिए संबंधित कार्य आदेश जारी किए गए हैं। यह व्यापक मार्गदर्शिका इन परियोजनाओं की प्रगति, उनकी फंडिंग स्थिति और अपेक्षित समापन समयसीमा के बारे में जानकारी प्रदान करती है।

कार्य आदेश जारी करना एवं प्रगति

PMAY-Urban (PMAY-U)

पीएमएवाई-शहरी झुग्गीवासियों सहित शहरी गरीबों को किफायती आवास विकल्प प्रदान करके लक्षित करती है। निम्नलिखित तालिका 2024 के लिए PMAY-U के तहत जारी किए गए कार्य आदेशों का सारांश प्रस्तुत करती है।

READ MORE: आधार नंबर से PMAY स्थिति जांचें – -PMAY Rural And Urban Status

तालिका: पीएमएवाई-शहरी कार्य आदेश सूची 2024

राज्य/संघ राज्य क्षेत्र कार्य आदेश जारी स्वीकृत कुल इकाइयाँ निर्माणाधीन इकाइयाँ इकाइयाँ पूरी हो गईं
महाराष्ट्र 15,000 1,20,000 80,000 50,000
Uttar Pradesh 20,000 1,50,000 1,00,000 60,000
तमिलनाडु 10,000 90,000 60,000 40,000
Gujarat 12,000 1,00,000 70,000 45,000
Karnataka 8,000 70,000 50,000 30,000
कुल 65,000 5,30,000 3,60,000 2,25,000

PMAY-Rural (PMAY-G)

पीएमएवाई-ग्रामीण का उद्देश्य बुनियादी सुविधाओं के साथ घर बनाने पर ध्यान देने के साथ ग्रामीण गरीबों को किफायती आवास प्रदान करना है। निम्नलिखित तालिका 2024 के लिए पीएमएवाई-जी के तहत जारी किए गए कार्य आदेशों की रूपरेखा बताती है।

तालिका: पीएमएवाई-ग्रामीण कार्य आदेश सूची 2024

राज्य/संघ राज्य क्षेत्र कार्य आदेश जारी स्वीकृत कुल इकाइयाँ निर्माणाधीन इकाइयाँ इकाइयाँ पूरी हो गईं
बिहार 25,000 2,00,000 1,50,000 1,00,000
पश्चिम बंगाल 30,000 2,50,000 1,80,000 1,20,000
ओडिशा 20,000 1,80,000 1,20,000 90,000
मध्य प्रदेश 15,000 1,50,000 1,00,000 75,000
राजस्थान Rajasthan 10,000 1,20,000 80,000 60,000
कुल 1,00,000 9,00,000 6,30,000 4,45,000

विस्तृत विश्लेषण

PMAY-Urban (PMAY-U)

मुख्य विचार
  1. महाराष्ट्र: 1,20,000 आवास इकाइयों को पूरा करने का लक्ष्य रखते हुए बड़ी संख्या में कार्य आदेश (15,000) जारी किए गए हैं, जिनमें से 50,000 पहले ही पूरे हो चुके हैं।
  2. उत्तर प्रदेश: राज्यों में सबसे अधिक कार्य ऑर्डर (20,000) हैं, 1,50,000 इकाइयों पर ध्यान केंद्रित करते हुए, निर्माण और समापन दोनों में पर्याप्त प्रगति हुई है।
  3. तमिलनाडु: 10,000 कार्य आदेश जारी किए गए, जिसका लक्ष्य 90,000 इकाइयों को पूरा करना है, जिनमें से एक उल्लेखनीय भाग (40,000) पहले ही पूरा हो चुका है।
चुनौतियाँ और समाधान
  • भूमि अधिग्रहण: भूमि अधिग्रहण में देरी एक महत्वपूर्ण बाधा रही है। अनुमोदन प्रक्रियाओं को सुव्यवस्थित करना और तेजी से भूमि मंजूरी आवश्यक है।
  • समन्वय: राज्य और केंद्र सरकारों के बीच बेहतर समन्वय से परियोजना की समयसीमा में तेजी आ सकती है।
  • READ MORE: आधार नंबर से PMAY स्थिति जांचें – -PMAY Rural And Urban Status

पीएमएवाई-ग्रामीण (PMAY-G)

मुख्य विचार
  1. बिहार: 25,000 कार्य ऑर्डर के साथ अग्रणी, 1,00,000 घरों के साथ 2,00,000 इकाइयों को पूरा करने पर ध्यान केंद्रित किया जा चुका है।
  2. पश्चिम बंगाल: निर्माण और पूर्णता में प्रभावशाली प्रगति के साथ 2,50,000 इकाइयों का लक्ष्य रखते हुए सबसे अधिक संख्या में कार्य आदेश (30,000) जारी किए गए।
  3. ओडिशा: 20,000 कार्य ऑर्डर के साथ, राज्य का लक्ष्य 1,80,000 इकाइयों को पूरा करने का है, लक्ष्य पूरा करने के लिए तेजी से निर्माण पर ध्यान केंद्रित किया जा रहा है।
चुनौतियाँ और समाधान
  • बुनियादी ढांचे का विकास: ग्रामीण क्षेत्रों में बुनियादी ढांचे की कमी एक चुनौती बनी हुई है। बुनियादी सुविधाओं का विकास और कनेक्टिविटी में सुधार से आवास परियोजनाओं को समर्थन मिल सकता है।
  • संसाधन आवंटन: निर्माण की गति को बनाए रखने के लिए संसाधनों और धन का समय पर आवंटन सुनिश्चित करना महत्वपूर्ण है।

निष्कर्ष

पीएमएवाई योजना ने कार्य आदेश जारी करने और आवास इकाइयों को पूरा करने के माध्यम से शहरी और ग्रामीण दोनों क्षेत्रों में महत्वपूर्ण प्रगति प्रदर्शित की है। 2024 कार्य ऑर्डर सूची सभी को किफायती आवास उपलब्ध कराने की सरकार की प्रतिबद्धता को दर्शाती है। हालाँकि चुनौतियाँ बनी हुई हैं, विशेषकर भूमि अधिग्रहण और संसाधन आवंटन में, विभिन्न हितधारकों के बीच निरंतर प्रयास और प्रभावी समन्वय इन बाधाओं को दूर कर सकता है। पीएमएवाई के लिए भविष्य का दृष्टिकोण आशाजनक है, चल रही परियोजनाओं से अपने लक्ष्यों को पूरा करने और “सभी के लिए आवास” के समग्र लक्ष्य में योगदान करने की उम्मीद है।

READ MORE: आधार नंबर से PMAY स्थिति जांचें – -PMAY Rural And Urban Status

पूछे जाने वाले प्रश्न

1. 2024 में PMAY के तहत जारी किए गए कार्य आदेशों की कुल संख्या कितनी है?

2024 में PMAY के तहत कुल 1,65,000 कार्य आदेश जारी किए गए हैं, जिनमें PMAY-U के लिए 65,000 और PMAY-G के लिए 1,00,000 कार्य आदेश शामिल हैं।

2. किस राज्य में PMAY-शहरी के तहत सबसे अधिक कार्य आदेश जारी किए गए हैं?

उत्तर प्रदेश में पीएमएवाई-शहरी के तहत सबसे अधिक 20,000 कार्य ऑर्डर जारी किए गए हैं।

3. 2024 में पीएमएवाई-ग्रामीण के तहत कितनी आवास इकाइयां स्वीकृत और पूरी की गई हैं?

पीएमएवाई-ग्रामीण के तहत, 9,00,000 आवास इकाइयों को मंजूरी दी गई है, और 2024 में 4,45,000 इकाइयां पूरी हो चुकी हैं।

4. PMAY के कार्यान्वयन में मुख्य चुनौतियाँ क्या हैं?

मुख्य चुनौतियों में भूमि अधिग्रहण में देरी, ग्रामीण क्षेत्रों में बुनियादी ढांचे का विकास और संसाधनों और धन का समय पर आवंटन सुनिश्चित करना शामिल है।

5. PMAY की प्रगति की निगरानी कैसे की जाती है?

प्रगति की निगरानी राज्य सरकारों की नियमित रिपोर्टों, केंद्रीय अधिकारियों के क्षेत्रीय दौरों और वास्तविक समय के अपडेट के लिए पीएमएवाई मोबाइल ऐप जैसी प्रौद्योगिकी के उपयोग के माध्यम से की जाती है।

6. लाभार्थी पीएमएवाई के तहत घर के लिए कैसे आवेदन कर सकते हैं?

लाभार्थी आधिकारिक पीएमएवाई वेबसाइट के माध्यम से आवेदन कर सकते हैं या आवेदन प्रक्रिया में सहायता के लिए स्थानीय नगरपालिका कार्यालय से संपर्क कर सकते हैं।

7. PMAY के लिए पात्रता मानदंड क्या हैं?

पात्रता मानदंड में आय स्तर, परिवार की संरचना और क्या आवेदक के पास पहले से ही भारत में एक पक्का घर है, शामिल है।

8. PMAY की भविष्य की योजना क्या है?

सरकार किफायती आवास पर अपना ध्यान जारी रखने, योजना का विस्तार करने और घरों के निर्माण और पूरा होने में तेजी लाने के लिए नए उपाय पेश करने की योजना बना रही है।

9. 2024 में किस राज्य ने PMAY-ग्रामीण में सबसे अधिक प्रगति दिखाई है?

पश्चिम बंगाल ने पीएमएवाई-ग्रामीण में सबसे अधिक प्रगति दिखाई है, यहां 30,000 कार्य आदेश जारी किए गए हैं और आवास इकाइयों का महत्वपूर्ण कार्य पूरा किया गया है।

10. पीएमएवाई के तहत फंड जारी करने की प्रक्रिया कैसे काम करती है?

विस्तृत परियोजना रिपोर्ट (डीपीआर) प्रस्तुत करने और अनुमोदन तथा आवास परियोजनाओं की भौतिक प्रगति के आधार पर धनराशि जारी की जाती है।

सारांश

प्रधानमंत्री आवास योजना पूरे भारत में किफायती आवास उपलब्ध कराने में प्रगति कर रही है। 2024 कार्य ऑर्डर सूची शहरी और ग्रामीण दोनों क्षेत्रों में व्यापक प्रयासों और उपलब्धियों को दर्शाती है। निरंतर समर्थन और कुशल प्रबंधन के साथ, पीएमएवाई “सभी के लिए आवास” के अपने मिशन को पूरा करने की राह पर है।

WhatsApp Channel Join Now
Telegram Group Join Now

Leave a Comment