PM Kisan e-KYC 17th installment 

WhatsApp Channel Join Now
Telegram Group Join Now

PM Kisan e-KYC 17th installment 

 Pradhan Mantri Kisan Samman Nidhi (PM-Kisan) यह योजना भारत में किसानों को वित्तीय सहायता प्रदान करती है, जिसमें सालाना ₹6000 प्रत्येक ₹2000 की तीन किस्तों में वितरित किए जाते हैं। चूंकि 17वीं किस्त जारी होने वाली है, इसलिए सभी लाभार्थियों के लिए अपनी ई-केवाईसी प्रक्रिया को पूरा करना महत्वपूर्ण है। बिना eKYC पूरा किए किसानों को ₹2000 की किस्त नहीं मिलेगी. यहां ई-केवाईसी प्रक्रिया को पूरा करने और यह सुनिश्चित करने के बारे में एक व्यापक मार्गदर्शिका दी गई है कि आपको पीएम-किसान योजना के तहत लाभ मिलता रहे।

अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न (एफएक्यू)

पीएम-किसान ई-केवाईसी क्या है?

ई-केवाईसी (इलेक्ट्रॉनिक नो योर कस्टमर) पीएम-किसान योजना के तहत एक अनिवार्य सत्यापन प्रक्रिया है। इसमें आधार प्रमाणीकरण के माध्यम से लाभार्थी की पहचान को सत्यापित करना शामिल है ताकि यह सुनिश्चित किया जा सके कि लाभ सही प्राप्तकर्ताओं तक पहुंचे।

पीएम-किसान लाभार्थियों के लिए ई-केवाईसी क्यों जरूरी है?

  • लाभार्थियों की पहचान प्रमाणित करें।
  • धोखाधड़ी रोकें और सुनिश्चित करें कि केवल पात्र किसानों को ही लाभ मिले।
  • सरकारी नियमों का पालन करें और पारदर्शिता बनाए रखें।

पीएम-किसान के लिए ई-केवाईसी कैसे पूरी करनी होगी?

पीएम-किसान योजना के सभी लाभार्थियों को वित्तीय सहायता प्राप्त करना जारी रखने के लिए ई-केवाईसी प्रक्रिया को पूरा करना आवश्यक है।

मैं पीएम-किसान ई-केवाईसी प्रक्रिया कैसे पूरी कर सकता हूं?

आप पूरा कर सकते हैं पीएम-किसान ई-केवाईसी प्रक्रिया ऑनलाइन या ऑफलाइन. यह दोनों विधियों के चरण दिए गए हैं:

ऑनलाइन विधि:

ई-केवाईसी लिंक पर क्लिक करें:

होमपेज पर, “ई-केवाईसी” विकल्प ढूंढें और क्लिक करें।

आधार विवरण दर्ज करें:

अपना आधार नंबर दर्ज करें और “खोजें” पर क्लिक करें।

ओटीपी सबमिट करें:

अगर आपका मोबाइल नंबर आधार से लिंक है तो आपको एक ओटीपी (वन-टाइम पासवर्ड) प्राप्त होगा।

दिए गए फ़ील्ड में ओटीपी दर्ज करें और “सबमिट” पर क्लिक करें।

सत्यापन:

ओटीपी के सफल सत्यापन पर आपको ई-केवाईसी पूरा हो जाएगा।

ऑफ़लाइन विधि:

सीएससी (कॉमन सर्विस सेंटर) पर जाएँ:

निकटतम पर जाएँ कॉमन सर्विस सेंटर (सीएससी)।

आधार विवरण प्रदान करें:

अपना आधार कार्ड और अन्य आवश्यक विवरण सीएससी ऑपरेटर के साथ साझा करें।

बायोमेट्रिक प्रमाणीकरण:

आवश्यकतानुसार बायोमेट्रिक प्रमाणीकरण (फिंगरप्रिंट या आईरिस स्कैन) पूरा करें।

समापन:

सीएससी ऑपरेटर आपकी ओर से ई-केवाईसी प्रक्रिया पूरी करेगा।

ई-केवाईसी के लिए कौन से दस्तावेज आवश्यक है?

ई-केवाईसी के लिए आपको निम्नलिखित दस्तावेजों की आवश्यकता होगी:

Aadhaar card.

आधार से जुड़ा मोबाइल नंबर (ऑनलाइन सत्यापन के लिए)।

बायोमेट्रिक विवरण (सीएससी पर ऑनलाइन सत्यापन के लिए)।

यदि मेरा मोबाइल नंबर आधार से लिंक नहीं है तो क्या होगा?

यदि आपका मोबाइल नंबर आधार से लिंक नहीं है, तो आपको बायोमेट्रिक प्रमाणीकरण के माध्यम से ई-केवाईसी प्रक्रिया को पूरा करने के लिए निकटतम सीएससी पर जाना होगा।

17वीं किस्त के लिए ई-केवाईसी पूरा करने की समय सीमा क्या है?

 ई-केवाईसी पूरा करने की विशिष्ट समय सीमा अलग-अलग हो सकती है, लेकिन किस्त जारी होने की तारीख से पहले प्रक्रिया पूरी करना जरूरी है। समय सीमा पर अपडेट के लिए आधिकारिक पीएम-किसान पोर्टल या स्थानीय कृषि कार्यालयों की नियमित जांच करें।

मैं कैसे जान सकता हूं कि मेरा ई-केवाईसी सफल है या नहीं?

अपने ई-केवाईसी की स्थिति जानने के लिए:

पीएम-किसान पोर्टल पर जाएं।

“लाभार्थी स्थिति” लिंक पर क्लिक करें।

अपना आधार नंबर या बैंक खाता नंबर दर्ज करें।

जांचें कि क्या आपकी ई-केवाईसी स्थिति “पूर्ण” के रूप में दिखाई देती है।

यदि मैं ई-केवाईसी पूरा नहीं करता तो क्या होगा?

यदि आप ई-केवाईसी प्रक्रिया पूरी नहीं करते हैं:

आपको ₹2000 की किस्त नहीं मिलेगी।

जब तक आप ई-केवाईसी पूरा नहीं कर लेते, आपका नाम पीएम-किसान लाभार्थियों की सूची से हटाया जा सकता है।

यदि कोई त्रुटि हो तो क्या मैं अपने आधार विवरण को अपडेट कर सकता हूं?

हां, यदि आपके आधार विवरण में त्रुटियां हैं, तो आप आधार नामांकन केंद्र पर जाकर या यूआईडीएआई पोर्टल का उपयोग करके उन्हें अपडेट कर सकते हैं। अपडेट करने के बाद दोबारा ई-केवाईसी प्रक्रिया पूरी करें।

क्या ई-केवाईसी से जुड़ी कोई लागत है?

के माध्यम से ई-केवाईसी ऑनलाइन पूरा करना पीएम-किसान पोर्टल निःशुल्क है। हालांकि, सीएससी पर बायोमेट्रिक प्रमाणीकरण के लिए नाममात्र शुल्क हो सकता है

 

WhatsApp Channel Join Now
Telegram Group Join Now

Leave a Comment