LATEST UPDATE: PM Awas Yojana Update पात्रता एवं दस्तावेज, जानें पूरी डिटेल

WhatsApp Channel Join Now
Telegram Group Join Now

प्रधानमंत्री आवास योजना (पीएम आवास योजना) एक सरकारी पहल है जिसका उद्देश्य शहरी और ग्रामीण दोनों क्षेत्रों में रहने वाले आर्थिक रूप से वंचित लोगों को उनकी क्रय शक्ति के अनुसार घर उपलब्ध कराना है। सरकार ने 9 राज्यों में 305 शहरों और कस्बों की पहचान की है जहां ये घर बनाए जाएंगे।

“प्रधानमंत्री आवास योजना” या पीएमएवाई-शहरी को 2015 में “सभी के लिए आवास” पहल के तहत शुरू किया गया था। पीएमएवाई-शहरी के तहत क्रेडिट लिंक्ड सब्सिडी योजना (सीएलएसएस) के माध्यम से, व्यक्ति होम लोन पर ब्याज सब्सिडी का लाभ उठा सकते हैं। ₹2.67 लाख तक की सहायता के साथ। यह अपने घरों को खरीदने, निर्माण करने या अपग्रेड करने के इच्छुक पात्र लाभार्थियों के लिए उपलब्ध है।

READ MORE: PM Awas Yojana Check Released

PMAY को तीन चरणों में विभाजित किया गया है:

चरण 1 अप्रैल 2015 में शुरू हुआ और मार्च 2017 में समाप्त हुआ। इस चरण के तहत, 100 से अधिक शहरों में घरों का निर्माण किया गया।
200 से अधिक शहरों में घर बनाने के लक्ष्य के साथ चरण 2 अप्रैल 2017 से मार्च 2019 तक चला।
चरण 3 अप्रैल 2019 में शुरू हुआ और शेष लक्ष्यों को प्राप्त करते हुए मार्च 2022 में समाप्त हुआ।
अगस्त 2022 में, कैबिनेट ने 31 दिसंबर, 2024 तक पीएमएवाई-शहरी के विस्तार को मंजूरी दे दी। इस विस्तार ने सीएलएसएस को छोड़कर, 31 मार्च, 2022 तक सभी स्वीकृत घरों को पूरा करने की अनुमति दी।

वित्तीय वर्ष 2023-24 के अंतरिम बजट में वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने गरीबों के अपने घर के सपने को पूरा करने का लक्ष्य रखते हुए पीएम आवास योजना 2024 के लिए आवंटन 66% बढ़ा दिया है। इस बढ़े हुए बजट आवंटन से घरों की संख्या बढ़ाने में मदद मिलेगी। 31 दिसंबर 2024 तक देशभर के गरीब परिवारों को लाभ पहुंचाने वाली इस योजना के तहत 1.22 करोड़ नए घरों के निर्माण को मंजूरी दी गई है।

ALSO READ: PM Awas Yojana Beneficiary List

प्रमुख विशेषताऐं:

संपूर्ण लाभ प्राप्त करने के लिए पात्र उम्मीदवारों के आधार कार्ड से जुड़े बैंक खाते में पीएमएवाई के तहत सब्सिडी और सहायता राशि का सीधा हस्तांतरण।
प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत बनने वाले मकानों का आकार पहले के 20 वर्ग मीटर (लगभग 215 वर्ग फुट) की तुलना में 25 वर्ग मीटर (लगभग 270 वर्ग फुट) बड़ा होगा।
इस योजना के तहत आने वाला खर्च केंद्र और राज्य सरकारें मिलकर वहन करेंगी। मैदानी क्षेत्रों में इस साझा राशि का अनुपात 60:40 होगा, जबकि पूर्वोत्तर और तीन हिमालयी राज्यों जम्मू-कश्मीर, हिमाचल प्रदेश और उत्तराखंड में यह अनुपात 90:10 होगा।
स्वच्छ भारत मिशन के तहत शौचालयों के निर्माण के लिए ₹12,000 के अतिरिक्त आवंटन के साथ, पीएमएवाई को स्वच्छ भारत मिशन के साथ एकीकृत किया गया है।
इस योजना के तहत लाभार्थियों के पास ₹70,000 तक का ऋण लेने का विकल्प है, जो ब्याज मुक्त होगा और किश्तों में चुकाना होगा। यह ऋण विभिन्न वित्तीय संस्थानों के माध्यम से आवेदन करके प्राप्त किया जा सकता है। शहरी क्षेत्रों में, उम्मीदवार ₹70,000 से अधिक का ऋण प्राप्त कर सकते हैं, जो बहुत कम ब्याज दरों पर उपलब्ध होगा। ऋण राशि एलआईजी, एचआईजी, एमआईजी की श्रेणियों के अनुसार अलग-अलग होगी।
लाभार्थियों को शौचालय, पेयजल, बिजली, स्वच्छ खाना पकाने के ईंधन और ठोस और तरल अपशिष्ट प्रबंधन जैसी सुविधाएं प्रदान करने के लिए इस योजना को अन्य योजनाओं के साथ एकीकृत किया गया है।
प्रधानमंत्री आवास योजना को पहले इंदिरा आवास योजना के नाम से जाना जाता था।

प्रधानमंत्री आवास योजना (PMAY) भारत सरकार की एक महत्वपूर्ण योजना है जो घरों के अभाव में लोगों को सहायता प्रदान करती है। इसका मुख्य उद्देश्य गरीबी रेखा से नीचे जीवन यापन करने वाले परिवारों के पास अपना घर प्राप्त करने की सहायता प्रदान करना है। PMAY के अंतर्गत, सरकार वित्तीय सहायता प्रदान करती है ताकि लोग अपने सपने के घर का संचालन कर सकें। यह योजना गरीब लोगों को उनकी आवासीय आवश्यकताओं को पूरा करने में मदद करती है और उन्हें स्वयं के घर की मालिकाना भावना देती है।

PMAY के अलावा, माननीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा अन्य जनकल्याणकारी योजनाओं की शुरुआत की गई है, जो विभिन्न वर्गों के लोगों को सहायता प्रदान करने का उद्देश्य रखती हैं। इनमें से कई योजनाएं किसानों, बेरोजगारों, बुजुर्गों, लेबरर्स, और छोटे व्यवसायियों के लिए हैं। इन योजनाओं के माध्यम से, सरकार आर्थिक सहायता, बीमा, पेंशन, ऋण और अन्य सुविधाएं प्रदान करती है ताकि लोग अपने जीवन को बेहतर बना सकें।

READ MORE:  AICTE Free Laptop Scheme

प्रधानमंत्री आवास योजना (PMAY) के लिए पात्रता मानदंड विभिन्न प्रकार के आय और परिवार के सामाजिक स्थिति पर आधारित होते हैं। नीचे दिए गए हैं पात्रता मानदंड:

आवेदक की उम्र: आवेदक की उम्र 70 साल से कम होनी चाहिए।

मकान या फ्लैट का अभाव: आवेदक या उसके परिवार के किसी सदस्य के नाम पर कोई मकान या फ्लैट नहीं होना चाहिए।

सरकारी छूट का लाभ नहीं उठाना: आवेदक को घर खरीदने के लिए किसी भी प्रकार की सरकारी छूट का लाभ नहीं उठाना चाहिए।

स्वामित्व: घर का स्वामित्व या तो किसी महिला के पास होना चाहिए, या परिवार में केवल पुरुष होते हैं।

आय सीमा: परिवार की अधिकतम वार्षिक आय ₹18 लाख से अधिक नहीं होनी चाहिए। आय के आधार पर यह आर्थिक रूप से 4 भिन्न श्रेणियों में विभाजित की जाती है:

ईडब्ल्यूएस (EWS): वार्षिक कुल आय ₹3 लाख से कम होनी चाहिए।

एलआईजी (LIG): वार्षिक कुल आय ₹3 लाख से ₹6 लाख के बीच होनी चाहिए।

एमआईजी-I (MIG-I): वार्षिक कुल आय ₹6 लाख से ₹12 लाख के बीच होनी चाहिए।

एमआईजी-II (MIG-II): वार्षिक कुल आय ₹12 लाख से ₹18 लाख के बीच होनी चाहिए।

मरम्मत और सुधार: घर की मरम्मत या सुधार के लिए केवल ईडब्ल्यूएस या एलआईजी श्रेणी के लोग ही पात्र होते हैं।

ALSO READ: PM Awas Yojana

प्रधानमंत्री आवास योजना के लिए आवश्यक दस्तावेज़ निम्नलिखित हो सकते हैं:

आधार कार्ड: आवेदक का आधार कार्ड एक महत्वपूर्ण दस्तावेज़ होता है।

वोटर आई कार्ड: यह दस्तावेज़ आवेदक की पहचान के लिए प्रमुख रूप से उपयोग किया जाता है।

पैन कार्ड: पैन कार्ड की प्रति आवेदक की आय की प्रमाणित प्रति होती है।

जाति प्रमाण पत्र: यह दस्तावेज़ आवेदक की जाति को प्रमाणित करने के लिए होता है, जिससे आवेदक की जाति के आधार पर आरक्षण मिल सकता है।

आय प्रमाण पत्र: आय प्रमाण पत्र आवेदक की आर्थिक स्थिति को प्रमाणित करता है।

आयु प्रमाण पत्र: यह दस्तावेज़ आवेदक की उम्र को सत्यापित करने के लिए होता है।

राशन पत्रिका: राशन पत्रिका भी आवेदक की आर्थिक स्थिति को प्रमाणित करती है।

मोबाइल नंबर: मोबाइल नंबर भी योजना के लिए आवश्यक होता है, ताकि सरकार आवेदक से संपर्क कर सके।

बैंक खाता संख्या: आधार कार्ड से जुड़ा हुआ बैंक खाता संख्या भी योजना के लिए आवश्यक होता है, जिसमें लाभार्थी को धनराशि जारी की जाती है।

पासपोर्ट के आकार की तस्वीर: यह दस्तावेज़ आवेदक की पहचान को प्रमाणित करता है।

यह सभी दस्तावेज़ आवेदक की पहचान, आय, और अन्य महत्वपूर्ण जानकारी को सत्यापित करने में मदद करते हैं, जो उन्हें प्रधानमंत्री आवास योजना के लाभ का हकदार बनाते हैं।

 
WhatsApp Channel Join Now
Telegram Group Join Now

Leave a Comment